Published by – Goutam Kumar Jena on behalf of GNEXT MS OFFICE
Category - Entertainment & Subcategory - Joke
Summary - Jokes, joke, fun, funny
Who can see this article:- All
Your last visit to this page was @ 2018-04-03 10:45:57
Create/ Participate in Quiz Test
See results
Show/ Hide Table of Content of This Article
See All pages in a SinglePage View
A
Article Rating
Participate in Rating,
See Result
Achieved( Rate%:- NA, Grade:- -- )
B Quiz( Create, Edit, Delete )
Participate in Quiz,
See Result
Created/ Edited Time:- 22-07-2017 10:40:20
C Survey( Create, Edit, Delete) Participate in Survey, See Result Created Time:-
D
Page No Photo Page Name Count of Characters Date of Last Creation/Edit
1 Image Delhi metro 1268 2017-07-22 10:40:20
2 Image Interview 3176 2017-07-22 10:40:20
3 Image Why not married ?? 1205 2017-07-22 10:40:20
4 Image Political Opposition Reaction 4980 2017-07-22 10:40:20
5 Image Media ,Army & Terrorist 3149 2017-07-22 10:40:20
6 Image Emotional fraud 3376 2017-07-22 10:40:20
Article Image
Details ( Page:- Delhi metro )

दिल्ली के मेट्रो ट्रेन में एक लडका   रोजाना बुजुर्ग महिला के लिये अपनी सीट खाली कर देता था   बुढिया भी बडे स्नेह के साथ रोज उसे कुछ काजू किशमिश ओर     पिस्ते के टुकड़े खाने  को दिया करती थी  aur लडका खा लेता था 

 कई दिनो तक ऐसा ही चलता रहा आखिरकार एक दिन  उसने बूढी अम्मा से पूछा :आप रोज मुझे ये मेवे क्यो खाने को देती   है ।

बूढी अम्मा भावुक हो कर बोली : मुझे केडबरी फ्रूटस एंड नट    बहुत पसंद है ।अब दांत तो रहे नहीं तो चाकलेट चूस लेती हूं ओर   ड्राई फ्रूटस तुम्हे दे देती हूं ।


लड़का अभी तक बेहोश है।


End of Page
Article Image
Details ( Page:- Interview )

एक इटरव्यू चल रहा था

नौकरी पहले ही बॉस के ‘साले’ के लिये पक्की हो चुकी थी..,


लेकिन दिखावे के लिये इंटरव्यू तो लेना ही था,

इसलिये ऐसे सवाल पूछे जा रहे थे, जिनका कोई जवाब संभव नहीं था, एक के बाद एक केंडीडेट आ रहे थे, जा रहे थे….!


फिर दूबेजी की बारी आयी….!!


इंटरव्यू लेने वाला:

आप नदी के बीच एक बोट पर हैं, और आपके पास दो सिगरेट के अलावा कुछ भी नही है….!!!

आपको एक सिगरेट जलानी है, कैसे जलाओगे…??


दूबेजी बड़े सीरियसली सोचने के बाद बोले…….!

सर इसके तीन-चार सोल्युशन हो सकते हैं……!!


इंटरव्यू लेने वाले को बहुत आश्चर्य हुआ कि जिस सवाल का एक भी जवाब नही हो सकता, उसके तीन-चार जवाब कहां से आ गये…… उसने बोला बताओ….!!


दूबेजी का पहला अनोखा जवाब:

एक सिगरेट पानी में फेंक दो, then boat will become lighter (हल्की),

और “lighter” से आप सिगरेट जला सकते हैं…..!


इंटरव्यू लेने वाला(Shocked)…….?


दूबेजी का दुसरा खतरनाक जवाब:—

Throw a cigarette up and catch it,

“Catches win the Matches”,

using the matches that you win, you can light the cigarette…..!!


Interviewer was speechless…..??


सर अभी तो एक उपाय और है……!


Take some water in your hand and drop it, drop-by-drop.

It will sound like ..Tip..Tip-Tip..Tip….!!


Interviewer:— उससे क्या होगा…..???


सर आपने वो गाना नही सुना “टिप-टिप बरसा पानी, पानी ने आग लगाई…..”!!!

इस आग से आप अपनी सिगरेट जला सकते हैं…..!


सर यदि ये काफी नही हैं तो अभी भी मेरे पास एक और उपाय है, वह भी सुन लीजिए:—


आप एक सिगरेट से प्यार करने लगिए, दूसरी अपने आप जलने लगेगी…..!!

इंटरव्यू लेने वाला चकित हो गया और चिल्ला कर बोला:—


“साले”…….को मारो गोली, नौकरी तो दूबेजी को ही मिलेगी..


End of Page
Article Image
Details ( Page:- Why not married ?? )

Why not married

किसी ने एक बुजुर्ग से पूछा ...आपने जीवन भर शादी क्यों नहीं की ??

.

उसने बताया-- मेरी जवानी की बात है ..मैं एक पार्टी में गया था, वहां अनजाने मैं मेरा पैर आगे खडी़ युवती के लटकते पल्लू पर पड़ गया toh  वो सांप की तरह फुफकार मारकर एकदम पलटी और शेर की तरह दहाडी़-- ब्लडी हैल , अंधे हो क्या !!!!!.

मैं हकलाकर माफी मांगने लगा..      फिर उसकी नजर मेरे चेहरे पर पडी़

.वो बडे़ ही मधुर स्वर मैं बोली --  .ओह माफ कीजिए , मैने समझा मेरे पति हैं

.

जनाब उस दिन के बाद से आज तक मेरा शादी करने का हौसला न हुआ...


End of Page
Article Image
Details ( Page:- Political Opposition Reaction )

*भारत - पाक मैच के बाद विपक्षी  दलों की प्रतिक्रियाएँ।*


*केजरीवाल :-*

जनता पाकिस्तान के साथ है, फिर भारत ये मैच कैसे जीत सकता है ?? मोदी जी ने स्कोरबोर्ड से छेड़छाड़ करवाई है जी। जब 40 ओवर में 213 रन बनते हैं,10 ओवर में 53 के हिसाब से,तो अंतिम 8 ओवर में इन्होंने100 से ज्यादाकैसे बना लिए इसकी जाँच होनी चाहिये। मोदी जी देश की आँखों में धूल झोंक रहे हैं।

*सौरभ भारद्वाज :-*

मैंने विदेशों में काफी कार्य किया है।मैं जानता हूँ कि स्कोरबोर्ड कैसे हैक किया जाता है। मैं केवल 90 सेकंड में मैं स्कोरबोर्ड हैक कर सकता हूँ।मैं चुनौती देता हूँ, केवल 90 सेकंड मुझे दे दो,फिर देखना केवल पाकिस्तान ही जीतेगा।


*मायावती :-*

मोदी जी दूसरों को आगे बढ़ने देना नही चाहते। उनके राज में मुस्लिमों पर अत्याचार बढ़ा है। हमारी संवेदनायें पाकिस्तान के साथ है।


*राहुल गाँधी :-* 

मोदी जी केवल एक विचारधारा सब पर थोपना चाहते हैं। इसलिये उन्होंने पहले तो पाकिस्तानियों को खूब मारा और फिर जब उनकी बल्लेबाजी आयी,तो जल्दी आउट कर दिया। ये उनकी आवाज दबाने की कोशिश है। उन्हें भी हक है चौके छक्के मारने का। उन्हें भी हक था कि वो पुरे 48 ओवर्स बल्लेबाजी करते। इस तरह आप उन्हें नही हरा सकते। आप उनका हक छीन रहे हो ।हम उनके हक के लिए हमेशा लड़ते रहे हैं, और आगे भी लड़ेंगे। हम मोदी जी से डरने वाले नही हैं।


*के सी त्यागी :-* 

देखिये,क्रिकेट एक सेक्युलर खेल है, और यही इसकी खूबसूरती है। आप इस तरह किसी को नही हरा सकते । मैं मानता हूँ कि अंतिम के ओवरों में कोहली को ज्यादा आक्रामक नही होना चाहिए था, और पंड्या ने जो लगातार तीन छक्के मारे मैं उससे बिल्कुल भी सहमत नही हूँ। ऐसा नही होना चाहिये था।यह घटना दुखद घटना है। मैं इसकी निंदा करता हूँ।


मुलायम सिंह यादव :-* पाकिस्तान

को जिताने के लिये अगर मुझे कई खिलाड़ियों के टिकट काटने पड़ते,तो भी मैं पीछे नही हटता


*लालू यादव :-* 

हॉप बुड़बक, ई कौनो अपने से जीता है।मोदिया जितवाया है सबके।ई सब संघी विचारधारा के लोग भारत के लिए खतरा है।बताईये त, अपना बेरी चार बार पानी गिरवाये, सुस्ता सुस्ता के बैटिंग किए.... अउ जब पाकिस्तान का बारी आया तो धूप निकलवा दिये। एतना गर्मी में कौन खेले पायेगा। अब देखियेगा, हम सब ऊपरे वाला मिल के ई सब संघीलोग के कैसे आउट करेंगे....जाइये रहे हैं दिल्ली।



End of Page
Article Image
Details ( Page:- Media ,Army & Terrorist )
Şजेएनयू के एक प्रौफेसर, एक टीवी चैनल के रिपोर्टर और भारतीय सेना के एक कर्नल का कश्मीर में आतंकवादियों ने अपहरण कर लिया । तीनों को मौत के घाट उतारने का हुक्म हुआ । बन्दियों को मारने से पहले उनकी अन्तिम इच्छा पूछी गई । 


जेएनयू प्रौफेसर - "मैं तो कश्मीर को भारत से आजादी का समर्थक हूँ । आप कृपया मुझे न मारें । दिल्ली वापिस जाकर मैं आपकी दयालुता पर लम्बा व्याख्यान दूँगा ।"


रिपोर्टर - "मुझे भी मत मारिये, जनाब । मैं भी भारत-सरकार को खूब कोसता हूँ । वापिस जाकर मैं आपकी विचारधारा पर अपने चैनल पर शानदार बहस कराऊँगा ।"


कर्नल - "मेरी हत्या करने से पहले मुझे पीटा जाय ।"


आतंकी सरगना (कर्नल से) - "तुम भी अपनी जान बख्शने के लिए गिड़गिड़ाओ । फिर हम अपना फैसला सुनायेंगे ।"


कर्नल - "नहीं । मैं चाहता हूँ कि मेरी हत्या से पहले मुझे पीटा जाय ।"


आतंकी सरगना के इशारे पर एक आतंकी ने भारतीय सेना के कर्नल पर अपनी एके-47 के बट से वार किया । कर्नल ने फुर्ती से एके-47 छुड़ा ली और दनादन सभी आतंकियों को ढेर कर दिया ।


प्रौफेसर और रिपोर्टर ने कर्नल से पूछा - "तुम्हारे अन्दर इतनी हिम्मत और हौसला था तो तुमने आतंकी से खुद को पिटवाया क्यों ? तुम ये फुर्ती और बहादुरी शुरू में भी दिखा सकते थे ।"


कर्नल - "मैं चाहता था कि लड़ाई की पहल वो करें । क्योंकि अगर मैं पहल करता तो तुम दोनो मुझे ही कटघरे में खड़ा कर देते और अपनी सरकार एवं जनता को सफाई देते-देते मेरी उम्र गुजर जाती ।"


End of Page
Article Image
Details ( Page:- Emotional fraud )

एक 20-22 साल का नौजवान सुपर मार्केट में दाखिल हुआ , कुछ ख़रीदारी कर ही रहा था कि उसे महसूस हुआ कि कोई औरत उसका पीछा कर रही है, मगर उसने अपना शक समझते हुए नज़रअंदाज़ किया और ख़रीदारी में मसरूफ हो गया,

लेकिन वह औरत लगातार उसका पीछा कर रही थी, अबकी बार उस नौजवान से रहा न गया , वह अचानक उस औरत की तरफ मुड़ा और पूछा, माँ जी खैरियत है ?

औरत बोली बेटा आपकी शक्ल मेरे मरहूम बेटे से बहुत ज्यादा मिलती जुलती है, मैं ना चाहते हुए भी आपको अपना बेटा समझते हुए आपके पीछे चल पड़ी, और आप ने मुझे माँ जी कहा तो मेरे दिल के जज़्बात और खुशी बयां करने लायक नही, औरत ने यह कहा और उसकी आँखों से आँसू बहने शुरू हो गये।

नौजवान कहता है कोई बात नहीं माँ जी आप मुझे अपना बेटा ही समझें।

वह औरत बोली कि बेटा क्या आप मुझे एक बार फिर माँ जी कहोगे ?

नौजवान ने ऊँची आवाज़ से कहा, जी माँ जी,

पर उस औरत ने ऐसा बर्ताव किया जैसे उसने सुना ही ना हो, नौजवान ने फिर ऊंची आवाज़ में कहा जी माँ जी....

औरत ने सुना और नौजवान के दोनों हाथ पकड़ कर चूमे , अपने आंखों से लगाऐ और रोते हुए वहां से रुखसत हो गई।

नौजवान उस मंज़र को देख कर अपने आप पर काबू नहीं कर सका और उसकी आंखों से आंसू बहने लगे, वह अपनी खरीदारी पूरी करे बगैर ही वापस चल दिया।

काउंटर पर पहुँचा तो कैशियर ने दस हज़ार का बिल थमा दिया....

नौजवान ने पूछा दस हज़ार कैसे ?.

कैशियर ने कहा आठ सौ का बिल आपका है और नौ हजार दो सौ का आपकी माँ के हैं, जिन्हें आप अभी माँ जी माँ जी कह रहे थे।



वह दिन और आज का दिन,

नौजवान अपनी असली मां को भी मौसी कहता है।


End of Page